Wednesday, 30 December 2009

रफ़्तार की मार


लगता है मीडिया ख़बर मैच की रिपोर्ट छापने में इतना रोमांचित हो गया था कि ख़बर की DATE LINE को ही ग़लत छाप बैठा । यहाँ साल ख़तम होने को आया है, और ये जनाब अभी अगस्त महीने में ही झूल रहे हैं ,वैसे ये पोस्ट किसी पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर नहीं लिखी गयी ,क्योंकि अक्सर मैं ख़ुद मीडिया से जुडी ख़बरों से
रु -ब-रु होने के लिए यहीं आता हूँ ।
मुझे अच्छी तरह याद है की पिछले दिनों मीडिया ख़बर में हड़बड़ी में गड़बड़ी शीर्षक लिए स्टार न्यूज़ की ख़बर को बतौर "हेडर" तरह इस्तेमाल किया गया था,जो ये बताने के लिए काफ़ी थी, कि आगे रहने की होड़ में किस तरह की ग़लतियाँ हो जाया करतीं है । स्टार न्यूज़ की तेज़ी को तो मीडिया ख़बर ने पकड़ लिया, पर अफ़सोस ख़ुद भी इसी तरह की (लापरवाही) भूल कर बैठा




उम्मीद है कि मीडिया ख़बर आगे से इन ज़रूरी बातों का ध्यान रखेगा

No comments: